[ad_1]

उत्तर भारत में मंगलवार को हल्की बारिश के साथ तापमान में वृद्धि दर्ज की गई. वहीं, मौसम विभाग ने पूर्वोत्तर और प्रायद्वीपीय भारत में छिटपुट स्थानों पर अगले चार-पांच दिनों में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान किया है.

नई दिल्ली: मौसम विभाग ने कहा कि कनार्टक तट से लगे पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती दशा बनने के कारण अगले चार पांच दिनों के दौरान प्रायद्वीपीय भारत में भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, बंगाल, बिहार, झारखंड में छिटपुट स्थानों पर गरज के साथ बारिश होने की भी संभावना है.

दिल्ली में मौसम शुष्क रहने का पूर्वानुमान
दिल्ली में तापमान में आंशिक वृद्धि दर्ज की गई और अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक, 35.3 (डिग्री से.) दर्ज किया गया.शहर में आर्द्रता 57 से 89 प्रतिशत के बीच रही. मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक दिल्ली में मौसम शुष्क रहने का पूर्वानुमान किया है. तापमान और बढ़ने की संभावना है.

पंजाब और हरियाणा में ज्यादातर स्थानों पर गर्म और नमी वाला मौसम रहा. अधिकतम तापमान सामान्य से दो-तीन डिग्री अधिक रहा.विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों तक हरियाणा और पंजाब में में मौसम शुष्क रहने की संभावना है.

उत्तर प्रदेश में हुी बारिश, कानपुर रहा सबसे गर्म

हालांकि, उत्तर प्रदेश में छिटपुट स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा हुई. राज्य में महाराजगंज, बिंदकी (फतेहपुर), अलीगंज (एटा) और अलीगढ़ में, प्रत्येक स्थान पर दो सेंमी वर्षा दर्ज की गई. राज्य में अधिकतम तापमान कानपुर में दर्ज किया गया, जो 37.6 डिग्री सेल्सियस रहा.

इन राज्यों में डेढ़ से तीन डिग्री बढ़ा तापमान
पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश, बिहार, ओडिशा और छत्तीसढ़ग में कुछ स्थानों पर अधिकतम तामान समान्य से डेढ़ से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया.

प्रायद्वीपीय भारत में भारी बारिश होने की संभावना
मौसम विभाग ने कहा कि कनार्टक तट से लगे पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती दशा बनने के कारण अगले चार पांच दिनों के दौरान प्रायद्वीपीय भारत में भारी बारिश होने की संभावना है. विभाग ने कहा कि तटीय कर्नाटक, केरल और माहे में 10 सितंबर और उसके बाद के दिन बहुत भारी बारिश होगी.

उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में 10 सितंबर को भारी बारिश की संभावना

पश्चिमी असम और इससे लगे उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम के ऊपर चक्रवाती दशा होने के चलते पूर्वोत्तर भारत और उप हिमालयी पश्चिम बंगाल तथा सिक्किम में 10 सितंबर को बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.

[ad_2]

Source link