निर्भया गैंगरेप के आरोपियों ने कहा, "अगर हम फांसी लगा लेंगे तो गैंगरेप रुक जाएगा"

निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले के अपराधी हर सांस में आखिरी सांस तक रहे हैं। गौरतलब है कि 20 मार्च को तिहाड़ जेल में फांसी की तैयारी पूरी हो चुकी है।

निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस में आरोपी अपनी फांसी से एक दिन पहले तक हर पैंतरा अपनाने से बाज नहीं आते। आरोपी मौत की सजा को रोकने के लिए फिर से अदालत पहुंचा है। वे हर समय कह रहे हैं कि उन्हें फांसी देने से कुछ भी नहीं बदलता है। हिंदी अखबार न्यू इंडिया टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फैसले के चार आरोपियों में से एक विनय ने दिल्ली तिहाड़ जेल के एक अधिकारी से कहा कि अगर उसे रोकने के लिए रैंप बंद कर दिया गया तो उसे फांसी दे दी जाएगी।

 

रिपोर्ट के अनुसार, विनय ने कहा: “अगर हमें फांसी दी जाती है, तो देश में बलात्कार बंद हो जाएंगे, तो निश्चित रूप से हमें फांसी दी जाएगी। लेकिन ये बलात्कार रुकने वाले नहीं हैं।” रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारी ने यह भी कहा कि मुकेश को छोड़कर किसी को भी आरोपी का चेहरा देखकर नहीं लगता कि 1 दिन बाद 20 मार्च को फांसी दी गई थी।

अक्षय के घर पर अभी तक नहीं आया है

बता दें कि चारों आरोपी अक्षय, पवन, विनय और मुकेश को 20 मार्च की सुबह फांसी दी जाएगी। तिहाड़ जेल प्रशासन ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है। अभियुक्त, विशेष रूप से पवन जलद को उसकी फांसी के लिए मेरठ जेल में तिहाड़ बुलाया गया था, जिसे वह मंगलवार शाम को तिहाड़ आया है। यहां उन्होंने 18 मार्च की सुबह, 18 मार्च की सुबह खुद को चार तारीखों को फांसी पर लटका लिया। यह जानकारी तिहाड़ जेल के अधिकारी ने न्यूज एजेंसी एनआई को दी है।

अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक अक्षय के परिवार ने चार आरोपियों में से उनसे मुलाकात भी नहीं की है। अगर गुरुवार के अक्षय का परिवार आज यात्रा करने के लिए आता है, तो उन्हें जाने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा, गुरुवार को दोपहर 12 बजे तक एक नई अदालत की कार्रवाई पर विचार किया जाएगा। मुकेश, विनय के परिवार ने उनसे मुलाकात की है।

Nirbhaya gangrape accused said, “If the gangrape will stop if we hank, hang on”

 

read this post in indian lanuage 

nirbhaya gaingarep aur mardar kes mein aaropee apanee phaansee se ek din pahale tak har paintara apanaane se baaj nahin aate. aaropee maut kee saja ko rokane ke lie phir se adaalat pahuncha hai. ve har samay kah rahe hain ki unhen phaansee dene se kuchh bhee nahin badalata hai. hindee akhabaar nyoo indiya taims kee ek riport ke mutaabik, phaisale ke chaar aaropiyon mein se ek vinay ne dillee tihaad jel ke ek adhikaaree se kaha ki agar use rokane ke lie raimp band kar diya gaya to use phaansee de dee jaegee. riport ke anusaar, vinay ne kaha: “agar hamen phaansee dee jaatee hai, to desh mein balaatkaar band ho jaenge, to nishchit roop se hamen phaansee dee jaegee. lekin ye balaatkaar rukane vaale nahin hain.” riport ke anusaar, adhikaaree ne yah bhee kaha ki mukesh ko chhodakar kisee ko bhee aaropee ka chehara dekhakar nahin lagata ki 1 din baad 20 maarch ko phaansee dee gaee thee. akshay ke ghar par abhee tak nahin aaya hai bata den ki chaaron aaropee akshay, pavan, vinay aur mukesh ko 20 maarch kee subah phaansee dee jaegee. tihaad jel prashaasan ne isake lie pooree taiyaaree kar lee hai. abhiyukt, vishesh roop se pavan jalad ko usakee phaansee ke lie merath jel mein tihaad bulaaya gaya tha, jise vah mangalavaar shaam ko tihaad aaya hai. yahaan unhonne 18 maarch kee subah, 18 maarch kee subah khud ko chaar taareekhon ko phaansee par lataka liya. yah jaanakaaree tihaad jel ke adhikaaree ne nyooj ejensee enaee ko dee hai. akhabaar kee riport ke anusaar, abhee tak akshay ke parivaar ne chaar aaropiyon mein se unase mulaakaat bhee nahin kee hai. agar guruvaar ke akshay ka parivaar aaj yaatra karane ke lie aata hai, to unhen jaane kee anumati dee jaegee. isake alaava, guruvaar ko dopahar 12 baje tak ek naee adaalat kee kaarravaee par vichaar kiya jaega. mukesh, vinay ke parivaar ne unase mulaakaat kee hai.