[ad_1]

कोविड-19 सुरक्षा मानकों के अनुसार किसी भी स्टेशन पर लिफ्ट में एक बार में अधिकतम तीन यात्रियों को जाने की अनुमति होगी. स्टेशन पर ट्रेनों के रुकने की अवधि अब ज्यादा होगी.

नई दिल्ली: सात सितंबर से एक बार फिर दिल्ली मेट्रो अपनी सेवाएं शुरू करने वाली है. इसके मद्देनजर दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के वास्ते कई कदम उठाए हैं. दिल्ली मेट्रो ने इसके लिए स्वचालित थर्मल स्क्रीनिंग-सह-सैनिटाइजर डिस्पेंसर और ‘फुट पेडल संचालित लिफ्टों’ को लगाया है.

कोविड-19 महामारी के कारण लगभग पांच महीने बंद रहने के बाद मेट्रो सेवाएं सात से 12 सितंबर तक तीन चरणों में फिर से शुरू होगी लेकिन अब भी कुछ स्टेशन बंद रहेंगे. गुरुवार को राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर मीडियाकर्मियों के लिए स्टेशन परिसर के एंट्री गेट से लेकर कोच में सवार होने तक समीक्षा की गई.

मास्क न पहनने पर कटेगा चालान
शहर पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि परिसर और ट्रेन के भीतर मास्क पहनना अनिवार्य है और ‘‘यदि कोई इस नियम का उल्लंघन करेगा तो उसका चालान किया जाएगा.’’ अधिकारियों ने बताया कि 45 स्टेशनों के एंट्री गेट पर, स्वचालित थर्मल स्क्रीनिंग सह सैनिटाइजर डिस्पेंसर लगाए गए हैं. यह सुविधा 17 मेट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध होगी, जिसमें येलो लाइन के राजीव चौक, पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय और विश्वविद्यालय स्टेशन शामिल हैं.

लिफ्ट में तीन से अधिक लोग नहीं
कोविड-19 सुरक्षा मानकों के अनुसार किसी भी स्टेशन पर लिफ्ट में एक बार में अधिकतम तीन यात्रियों को जाने की अनुमति होगी. स्टेशन पर ट्रेनों के रुकने की अवधि अब ज्यादा होगी. इसे हर एक स्टेशन पर 10-15 सेकंड से बढ़ाकर 20-25 सेकंड किया जाएगा और ‘इंटरचेंज’ सुविधा की अवधि को 35-40 सेकंड से बढ़ाकर 55-60 सेकंड किया जाएगा.

दो पालियों में दिल्ली मेट्रो सेवाएं
डीएमआरसी ने बुधवार को कहा था कि सात सितंबर से फिर से शुरू होने वाली मेट्रो सेवा के पहले चरण में दिल्ली मेट्रो सेवाएं दो पालियों सुबह 7 से 11 तक और शाम 4 बजे से रात 8 बजे तक संचालित होंगी. दूसरे चरण में ट्रेनें सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच और शाम चार बजे से रात 10 बजे के बीच उपलब्ध रहेंगी और 12 सितंबर से सामान्य संचालन शुरू हो जाएगा.

अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा और वायरस के फैलने की आशंका के कारण यात्रियों को टोकन जारी नहीं किए जाएंगे. केवल स्मार्टकार्ड धारकों को यात्रा की अनुमति होगी. यात्रियों को आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाएगी.

[ad_2]

Source link