[ad_1]

राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री वेई दोनों एससीओ विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए फिलहाल रूस की राजधानी मॉस्को में हैं.

नई दिल्ली: भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच मॉस्को में राजनाथ सिंह चीनी रक्षा मंत्री से मिल सकते हैं. चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंगही ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की अहम बैठक से इतर भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक की इच्छा जताई है. राजनाथ सिंह और वेई दोनों एससीओ विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए फिलहाल रूस की राजधानी मॉस्को में हैं. जानकारी के अनुसार चीनी पक्ष ने भारतीय मिशन को दोनों रक्षा मंत्रियों के बीच एक बैठक की अपनी इच्छा से अवगत कराया है.

राजनाथ ने मास्को में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मास्को स्थित भारतीय दूतावास में गुरुवार को महात्मा गांधी को पुष्पांजलि अर्पित की. सिंह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की अहम बैठक में शिरकत करने के लिए बुधवार को तीन दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचे हैं. यह करीब दो महीनों में उनकी दूसरी रूस यात्रा है.

रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया, “मास्को में भारतीय दूतावास में बापू की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए. महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देता हूं.” सिंह के साथ रूस में भारत के राजदूत डी बी वेंकटेश वर्मा भी थे. इस दौरान सिंह ने मास्क लगाया हुआ था और वह गांधी की प्रतिमा के आगे हाथ जोड़कर सिर झुकाए देखे गए.

राजनाथ सिंह की यात्रा के दौरान भारत और रूस ने अत्याधुनिक एके-203 रायफल भारत में बनाने के लिए एक बड़े समझौते को अंतिम रूप दे दिया है. एके-203 रायफल, एके-47 रायफल का नवीनतम और सर्वाधिक प्रारूप है. यह ‘इंडियन स्मॉल ऑर्म्स सिस्टम’ (इनसास) 5.56×45 मिमी रायफल की जगह लेगा.

[ad_2]

Source link