विहिप बजरंग दल ने अशोक सिंघल को जयंती पर किया नमन,याद में लगाए पौधे

जन्मभूमि आंदोलन के नायक दिवंगत अशोक सिंघल को भारत रत्न दिया जाए-विहिप

कपूरथला/चंद्र शेखर कालिया। अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए बरसों तक आंदोलन की अगुवाई करने वाले विश्व हिन्दू परिषद के पूर्व मुखिया अशोक सिंघल को भारत रत्न दिए जाने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है।विश्व हिन्दू परिषद जालंधर विभाग के अधक्ष्य नरेश पंडित ने राम जन्मभूमि आंदोलन के नायक व विश्व हिंदू परिषद के दिवंगत नेता अशोक सिंघल को भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग की है।सिंघल 20 साल तक विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष रहे।सिंघल ही वो व्यक्ति थे जिन्होंने अयोध्या विवाद को स्थानीय जमीन विवाद से अलग देखा और इसे एक राष्ट्रीय आंदोलन बनाने में अहम भूमिका निभाई।रविवार को अशोक सिंघल की जयंती पर उनको नमन करने हेतु विहिप बजरंग दल द्वारा बजरंग दल के ज़िला अधक्ष्य राजकुमार अरोड़ा एवं नगर उपाध्क्षय अमित ग्रोवर के नेतृत्व में गोबिंद गौधाम गौशाला में समारोह आयोजित किया गया।इस दौरान विहिप बजरंग दल कार्यकर्ताओ ने रामजन्मभूमि आंदोलन के नायक व विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष रहे स्व.अशोक सिंघल को पुष्प अर्पित कर नमन करते हुए उनकी याद में गौशाला में पौधे भी लगाए।इस दौरान अशोक सिंघल की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए विहिप जालंधर विभाग के अधक्ष्य नरेश पंडित ने कहा की अशोक सिंघल ऐसे गृहस्थ संत थे, जिन्होंने सनातन धर्मियों में राम मंदिर के साथ ही उन्हें एकजुट करने की भी चेतना पैदा की थी,नरेश पंडित ने कहा कि अशोक सिंघल की अगुवाई की वजह से ही मंदिर आंदोलन न सिर्फ साकार हुआ है,बल्कि हिन्दू समाज अपने आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट भी हो रहा है।उनके मुताबिक अशोक सिंघल ने एक अरब से ज्यादा देशवासियों में उनकी सांस्कृतिक चेतना को जागृत करने का बेहद अहम काम किया है,इसलिए उन्हें भारत रत्न मिलना ही चाहिए।विहिप नेता नारायण दास एवं बजरंग दल के जिला अधक्ष्य राजकुमार अरोड़ा ने अशोक सिंघल को सफेद वस्त्रधारी महान संत और राम मंदिर आंदोलन का महानायक करार दिया।उन्होंने कहा कि अशोक सिंघल ने राम मंदिर आंदोलन की अगुवाई करने के साथ ही देश और समाज के लिए कई दूसरे बड़े काम भी किए थे,इस वजह से वह ऐसे सम्मान के वास्तविक हकदार हैं।गौरतलब है कि अशोक सिंघल ने करीब तीन दशकों तक राम मंदिर आंदोलन की अगुवाई की थी।उन्होंने सभी सम्प्रदायों के संतों को एकजुट कर उन्हें इस आंदोलन से जोड़ा था। इसके साथ ही वो समाज सुधारक की भी भूमिका में थे। यही वजह है कि अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर निर्माण की शुरुआत के बाद से ही उन्हें भारत रत्न या कोई दूसरा सम्मान दिए जाने की मांग अब जोर-शोर से उठने लगी है। इस अवसर पर विहिप जिला मंत्री राजू सूद,गुरमीत लाल बॉबी,हीरा लाल सहोता,करण शर्मा आदि उपस्थित थे

The post राम जन्मभूमि आंदोलन में सिंघल का योगदान सराहनीय-नरेश पंडित appeared first on Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News- Encounter India.

Leave a Reply