[ad_1]

बैठक में दोनों पक्षों ने क्षेत्रीय घटनाक्रमों पर एक-दूसरे के विचार जाने और मुक्त, खुले और समेकित हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में आगे बढ़ने पर सहमत हुए.

नई दिल्लीः भारत और अमेरिका ने टू प्लस टू मंत्रीस्तरीय वार्ता से पहले शुक्रवार को एक बैठक की जिसमें दोनों पक्षों ने क्षेत्रीय घटनाक्रमों पर एक-दूसरे के विचार जाने और मुक्त, खुले और समेकित हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में आगे बढ़ने पर सहमत हुए.
ऑनलाइन हुई इस बैठक में भारतीय दल का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अमेरिकी महाद्वीप) वाणी राव और रक्षा मंत्रालय में संयुक्त सचिव (अंतरराष्ट्रीय सहयोग) सोमनाथ घोष ने संयुक्त रूप से किया.
अमेरिकी शिष्टमंडल का नेतृत्व अमेरिकी विदेश विभाग में दक्षिण और मध्य एशिया मामलों के ब्यूरो के वरिष्ठ ब्यूरो अधिकारी डीन थॉम्पसन और अमेरिकी रक्षा मंत्रालय में हिन्द-प्रशांत सुरक्षा मामलों के कार्यवाहक सहायक मंत्री डेविड हेलवी ने संयुक्त रूप से किया.
विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, वाशिंगटन में 18 दिसंबर, 2019 को हुई 2+2 मंत्रीस्तरीय वार्ता के बाद से अभी तक रक्षा, सुरक्षा के क्षेत्र में द्विपक्षीय संबंधों और विदेश नीति के क्षेत्र में हुई प्रगति की दोनों पक्षों ने समीक्षा की.
विदेश मंत्रालय ने कहा कि उन्होंने इन क्षेत्रों में चल रही साझेदारी को परस्पर हितों के आधार पर बढ़ाने के अवसर तलाशने पर भी चर्चा की. बयान के अनुसार, ‘‘उन्होंने क्षेत्रीय घटनाक्रमों पर एक-दूसरे के विचार जाने और मुक्त, खुले और समेकित हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में आगे बढ़ने पर सहमत हुए.’’

[ad_2]

Source link

Leave a Reply