ऊना, रोहित शर्मा, सुशील पंडितः लॉकडाउन के दौरान छेड़छाड़, बलात्कार तथा पोक्सो एक्ट से संबंधित मामलों पर चर्चा के लिए एक अंतर विभागीय बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता अतिरिक्त उपायुक्त ऊना डॉ. अमित कुमार ने की।
बैठक में एडीसी ने कहा कि बच्चों को अच्छे व बुरे स्पर्श के बारे में जागरूक करना आवश्यक है, ताकि उन्हें सुरक्षित रखने में मदद मिल सके तथा बाल अपराधों पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि विकृत मानसिकता वाले कुछ व्यक्ति बच्चों की मासूमियत का फायदा उठाकर उनके करीब आने के लिए स्नेह का सहारा लेते है और फिर बुरा स्पर्श करते हैं, लेकिन छोटे बच्चे उनके बुरे स्पर्श को पहचानने में असमर्थ होते हैं। इसलिए बच्चों को यह जानकारी देना आवश्यक है।
डॉ. अमित कुमार ने कहा कि बच्चों को यौन अपराधों, यौन शोषण तथा पोर्नोग्राफी जैसे जघन्य अपराधों से बचाने तथा पोक्सो एक्ट की जानकारी देने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग समन्वय स्थापित कर कार्य करें।
बैठक में विवेक खनाल सचिव डी.एल.एस.ए., मनीष यादव एसडीएम अम्ब, गौरव चौधरी एसडीएम हरोली, रमण शर्मा जिला पंचायत अधिकारी, डॉ. निखिल स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी, जे.पी शर्मा अधीक्षक शिक्षा विभाग, सतनाम सिंह जिला कार्यक्रम अधिकारी, कुलदीप सिंह दयाल बाल विकास परियोजना अधिकारी तथा शाम लाल मल्होत्रा जिला बाल संरक्षण अधिकारी ने भाग लिया।

The post बच्चों को अच्छे व बुरे स्पर्श के बारे में जागरूक करना आवश्यकः एडीसी appeared first on Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News- Encounter India.

Leave a Reply