[ad_1]

बल के पालौरा कैंप में ‘सैनिक सम्मेलन’ को संबोधित करने हुए बीएसएफ प्रमुख ने चीन और पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा, ‘ यह हम सभी के लिए बेहद नाजुक समय है क्योंकि हमारे दोनों पड़ोसी देश हमारे खिलाफ योजना बना रहे हैं.’

बीएसफ के महानिदेशक राकेश अस्थाना ने रविवार को कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की भूमिका और अधिक महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि ‘हमारे पड़ोसी देश’ भारत के खिलाफ योजना बना रहे हैं. इस बयान को लद्दाख में चीन-भारत सीमा पर जारी गतिरोध और पाकिस्तान द्वारा लगातार संघर्ष विराम उल्लंघन के संदर्भ में देखा जा रहा है.

बीएसएफ की ओर से रविवार रात को जारी प्रेस रिलीज में कहा गया कि तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को जम्मू पहुंचे अस्थाना ने दौरे के समापन के तीसरे दिन नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास राजौरी और पुंछ जिलों के अग्रिम रक्षा स्थलों (एफडीएल) का दौरा कर वहां की वर्तमान परिस्थितियों का जायजा लिया.

बल के पालौरा कैंप में ‘सैनिक सम्मेलन’ को संबोधित करने हुए बीएसएफ प्रमुख ने चीन और पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा, ‘ यह हम सभी के लिए बेहद नाजुक समय है क्योंकि हमारे दोनों पड़ोसी देश हमारे खिलाफ योजना बना रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हम भारत की रक्षा में सबसे अग्रिम पंक्ति में हैं इसलिए हमारी भूमिका और अधिक महत्वपूर्ण हो गई है.’

विज्ञप्ति के मुताबिक, दौरे के तीसरे दिन महानिदेशक को राजौरी सेक्टर मुख्यालय के उप महानिरीक्षक आईडी सिंह और एलओसी पर तैनात फील्ड कमांडरों द्वारा परिचालन संबंधी तैयारियों और वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी गई.

[ad_2]

Source link