[ad_1]

जालंधरः- जिलाधीश घनश्याम थोरी ने ज़िला निवासियों से अपील करते हुए कहा कि वह झिझक न करें, बल्कि लक्षण सामने आने पर तुरंत डाक्टर के साथ संपर्क करे और टैस्ट करवाने के लिए पहल कदमी दिखाए, जिससे कोरोना को और फैलने से रोका जा सके। सिविल, स्वास्थ्य और पुलिस आधिकारियों के साथ बैठक की अध्यक्षता करते हुए श्री थोरी ने कहा कि कोरोना का जल्द पता लगाने से इसको प्रभावशाली ढंग के साथ रोका जा सकता है। उन्होनें कहा कि कंटेनमैंट, संपर्क ट्रेसिंग और निगरानी कोरोना के साथ निपटने के लिए मुख्य हथियार हैं। उन्होनें स्वास्थ्य विभाग को कहा कि वह सैंपलों की सामर्थ्य को 2000 तक बढ़ाने, जिससे पोजिटिव मामलों का पता लगा कर जल्दी इलाज शुरू किया जाए और इससे कीमती जानें बचाई जा सकेंगी। उन्होनें स्वास्थ्य विभाग को कंटेनमैंट और माईक्रो-कंटेनमैंट जोन की जांच करते रहने के भी निर्देश दिए। उन्होनें लोगों को सचेत रहने और सामाजिक दूरी बनाए रखते मास्क और हाथों को समय समय पर धोने जैसी सावधानिया इस्तेमाल करते रहने की अपील की। इस दौरान शहर के कोविड -19 से ठीक हुए लोगों की कुल संख्या 2407 तक पहुँच गई, जब कि 72 और मरीज़ों को अलग -अलग अस्पतालों से छुट्टी दी गई और कुछ मरीज़ों ने होम कुआरनटीन भी पूरा किया। आज, छुट्टी मिलने वाले 72 मरीज़ों में कोविड केयर सैंटर के सात, सिविल अस्पताल के 11, मिलटरी अस्पताल के एक, निजी अस्पतालों में से 13 और घरों में एकांतवास रहने वाले 40 मरीज़ शामिल हैं। ठीक हुए मरीज़ों ने अपने इलाज दौरान डाक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मचारियों की मेहनत और वचनबद्धता की प्रशंसा भी की।

[ad_2]

Source link