एक्टिव मामले 647, तीन मरीजों ने जालंधर व लुधियाना में और एक ने घर पर दम तोड़ा

कपूरथला/चंद्र शेखर कालिया। जिले में 4 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई है। इनमें से 3 लोगों की मौत जालंधर के प्राइवेट अस्पताल और लुधियाना के डीएमसी व सीएमसी अस्पताल में हुई है जबकि रेल कोच फैक्टरी क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति की मौत घर में ही हुई है। जिले में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 128 हो गया है। दूसरी तरफ जिले में 104 नए कोरोना मरीज सामने आए है, जिनमें अकेले कपूरथला शहर से 21, ब्लाक फगवाड़ा से 31, ढिलवां से 4 करतारपुर से 3, आरसीएफ से 5 और बाकी जिले के अन्य क्षेत्रों से मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।इसके अलावा सेहत विभाग को 30 मरीजों की रिपोर्ट दूसरी लेबोरेटरी से प्राप्त हुई है। जिले में अब तक कोरोना से पीड़ित मरीजों की संख्या 3009 हो गई है। एक्टिव मामले 647 हो गए। अब तक ठीक हुए मरीजों का आंकड़ा 2019 हो गया है। सेहत विभाग की ओर से बुधवार को 112 मरीजों को विभिन्न आइसोलेशन वार्डों से छुट्टी देकर घर भेजा गया।

जिले से 897 नए संदिग्ध लोगों के कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिए

ढिलवां निवासी संक्रमित 52 वर्षीय महिला की जालंधर के निजी अस्पताल में मौत हुई है जबकि रेल कोच फैक्ट्री में होम क्वारेंटाइन 58 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। इसी तरह से फगवाड़ा की थापर कॉलोनी केे 41 वर्षीय व्यक्ति की लुधियाना के डीएमसी और कपूरथला के गुरु अर्जन देव नगर के 65 वर्षीय व्यक्ति की लुधियाना के सीएमसी में हुई है।रेल कोच फैक्टरी से 4 मरीज और 1 आसपास क्षेत्र से सामने आया है।शहर के पॉश एरिया माडल टाउन से 5, आईटीसी कार्यालय से 2, पुरानी दाना मंडी, जग्गू शाह डेरा, न्यू सब्जी मंडी, नूरपुर लुबाना से 1-1 मरीज, धारीवाल कालोनी से 3, गोपाल पार्क से 2, शेखुपुर से 1, करतारपुर से 3, गांव रत्ता कदीम से 1, फत्तूढींगा से 1, सुल्तानपुर लोधी व आसपास क्षेत्र से 3, ढिलवां से 4, बंगा, नवांशहर तथा अमृतसर से 1-1 और जालंधर से 2 मरीज पॉजिटिव आए है। वही ब्लाक फगवाड़ा के 32 मरीज भी पॉजिटिव है। डाॅ. राजीव भगत ने बताया कि को सेहत विभाग ने जिले से कुल 897 नए संदिग्ध लोगों के सेंपल लिए है।

डीसी ने कहा-सरकारी कर्मचारी एक सप्ताह में कराएं टेस्ट

जिले में कोरोना के मरीजों का बढ़ता आंकड़ा देखकर सेहत विभाग और जिला प्रशासन चिंतित है। डीसी ने 41 सरकारी विभागों में काम कर रहे कर्मचारियों को एक सप्ताह के भीतर कोरोना टेस्ट करवाने के लिए कहा है। जानकारी के मुताबिक जिले में सैकड़ों मुलाजिम काम कर रहे है, वहीं दूसरी तरफ सिविल में स्टाफ की कमी है। अब देखना यह है कि एक सप्ताह में इतने बड़ी तादाद में तैनात सरकारी कर्मचारियों के कोरोना टेस्ट हो पाते है या नहीं। हालांकि डीसी ने यह भी कहा कि अगर किसी विभाग में 100 से अधिक कर्मचारी तैनात है तो उनको 2 सप्ताह के भीतर कोरोना टेस्ट करवाने की छूट दी है।

The post कोरोना से 4 लोगों की मौत, संक्रमित 3000 पार; 104 नए मरीज आए सामने appeared first on Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News- Encounter India.

Leave a Reply