पठानकोट/अजय सैनी। पठानकोट अमृतसर नेशनल हाईवे पर अड्डा बलसुआ पुली पर किसान जत्थे बंदियों दोबारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसान विरोधी नीतियों के चलते प्रधानमंत्री का पुतला फूंक प्रदर्शन लोक भलाई इंसाफ वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष जसवंत सिंह कोठी की अध्यक्षता में जलाया गया। प्रदर्शनकारियों में जसवंत सिंह कोठी, कर्मजीत सिंह, जसवीर सिंह, अमन सैनी, धर्मवीर सिंह, हरदेव सिंह चि_ी, गुरमुख सिंह, जसवीर सिंह, जगबीर सिंह, अमृत टांडा, केवल सिंह कंग, आप नेता ठेकेदार अमरजीत सिंह, आप नेता लालचंद कटारूचक, गुरदयाल सिंह सैनी, डॉ विनोद कुमार, पूर्व संगठन प्रधान गौतम मान, सौरव बहल, रमेश टोला ने संयुक्त रूप में केंद्र में बैठे मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए पुतला जलाया गया। किसान जत्थे बंदियों द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रम में आम आदमी पार्टी ने भी किसानों का सहयोग किया और केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोल प्रदर्शन किया। किसान जत्थेबंदियों के नेता जसवंत सिंह कोठी ने कहा कि अगर मोदी सरकार इसे वापस नहीं लेती तो वह मोदी सरकार के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करेंगे। उधर किसान जत्थेबंदियों को उस समय और बल मिल गया जब इनका समर्थन करने के लिए आम आदमी पार्टी भी सामने आ गई व उन्होंने भी मोदी के इस काले कानून को जमकर कोसा व नारेबाजी भी की। आम आदमी पार्टी के नेताओ ने कहा कि वह लोग भी किसानों के हक में है क्योंकि उनमे भी कई किसान है । उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसान विरोधी बन गई है इसी लिए वह ऐसे कानून बनाने में लगी हुई है जिससे देश का किसान बर्वाद हो जाए। इस लिए वह मोदी सरकार के इस ऑर्डिनेंस बिल के खिलाफ है और तब तक रहेगी जब तक मोदी सरकार इसे वापस नहीं ले लेती है। उन्होंने कहा कि इस काले कानून के पारित होने से जहां किसानों को नुकसान होगा वही आढ़तियों को भी बहुत बड़ा नुकसान होगा इसलिए सभी देशवासियों से अपील करते हैं कि वह इस काले कानून के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए सडक़ों पर उतरे अपनी एकता का सबूत दे। इस दौरान आप नेता लालचंद कटारूचक ने कहा किआज सडक़ों पर उतरना इसलिए पड़ रहा है कि केंद्र में बैठे मोदी सरकार 3 ऑर्डिनेंस बिल लेकर सदन में आई है। जिसमें लोकसभा में इसको पास करवा लिया गया है जबकि इसकी कोई भी वोटिंग भी नहीं करवाई गई।उन्होंने कहा कि उसके पास होने से मंडी का सिस्टम टूट जाएगा जिसका असर किसानों और आढ़तियों पर भी पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पहले ही मोदी सरकार द्वारा देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से डर गई हुई है पहले तो जीएसटी लाई गई जिससे व्यापारी वर्ग को खत्म किया गया फिर रातों-रात नोटबंदी कर देश की जनता को अंधकार में दकेला। उन्होंने कहा कि इस बिल के पारित होने से यहां मंडी का न खत्म हो जाएगा और हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में मंडी बोर्ड द्वारा जो सडक़ें और विकास कार्य करवाए जाते थे वह लुप्त हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे किसानी पूरी तरह से खत्म हो जाएगी अगर आज हम एकजुट होकर सडक़ों पर इसका विरोध ना किया गया तो आने वाली पीढ़ी हमें कोसेंगी। उन्होंने कहा कि सभी देशवासियों को पार्टी बाजी से ऊपर उठकर ऑर्डिनेंस का विरोध करना चाहिए और सरकार को भी चाहिए कि इस किसान विरोधी बिल को वापस लिया जाए।

The post किसान जत्थे बंदियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंक किया रोष प्रदर्शन appeared first on Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News- Encounter India.

Leave a Reply